Organizational Setup

संगठन की स्थापना केन्द्रीय सरकार द्वारा1975 के अघिनियम न.22 के तहत 1जुलाई 1975 से प्रभाव में आयी! पुस्तकालय के मामलों को रामपुर रज़ा पुस्तकालय बोर्ड, अघिनियम की घारा 4(2) के तहत प्रबनिघत करता हैं! इस शासकीय निकाय के अघ्यक्ष उत्तर प्रदेश के राज्यपाल महामहिम हैं! नवाब के तत्कालीन शासक के एक सन्तान सहित12 अन्य सदस्यों का प्रावघान हैं! बोर्ड, पुस्तकालय के मामलों में केन्द्र और राज्य सरकार से सम्बनिघत अघिकारियों के अलावा, फारसी, और उदर्ू साहित्य के प्रतिषिठत इतिहासकारों और2 विद्वानों द्वारा प्रतिनिघित्व करता हैं

पुस्तकालय के निदेशकसदस्य सचिव का पद एक लम्बे समय से £ाली पड़ा था! हाल ही में रामपुर रज़ा पुस्तकालय में भारत सरकार ने प्रो.एस.एम.अज़ीज़ उददीन को निदेशक के पद पर नियुक्त किया हैं! निदेशक की अनुपसिथति में विशेष अघिकारी पुस्तकालय की दे£भाल कर रहे थे! निदेशक औचित्य बोर्ड की बैठकों और उसकी उप समितियों और बोर्ड द्वारा लिए गए निणयों के कि्रयान्वयन के लिए जि़म्मेदार हैं उनसे उपेक्षा की जाती हैं! कि नियमित रूप से वित्तीय अनुदान व निर्देश प्राप्त करने के लिए बोर्ड के अघ्यक्ष और संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के साथ निकट सम्पर्क बनाए र£ें! वह पुस्तकालय सगंह के र£र£ाव और सुरक्षा के अलावा पांडुलिपियों, किताबों और कला वस्तुओं के अघिग्रहण और श्ौक्षिणक सेमिनार, कार्यशालाओं, अनुसंघान प्रकाशनों आदि के आयोजन के लिए जिम्मेदार हैं! पुस्तकालय भारत सरकार के अघीन एक स्वायत्त सस्ंथान के रूप में कार्य कर रहा हैं! यह एक सांविघिक निकाय हैं! विश्ोष रूप से भारतीय संसद द्वारा पारित केन्द्रीय सरकार के अघिनियम के तहत स्थापित राष्ट्रीय महत्व की सस्ंथा के रूप में कानूनी दर्जा प्राप्त हैं! पुस्तकालय का निदेशक बोर्ड के द्वारा विभाग का प्रमु£ घोषित किया जाता है और प्रशासन, वित्त, बजट, ले£ा परीक्षा, बैंक £ाता संचालित करना, ऐतिहासिक इमारतों की मरम्मत, बोर्ड और उप-समितियों की बैठकों का आयोजन, पुस्तकों और प्रकाशनों की £रीद आदि सभी मामलों के लिए जिम्मेंदार हैं! निदेशक वर्ग 'सी और 'डी कर्मचारियों के लिए अनुशासनिक प्राघिकारी की नियुकित भी करता हैं!

इस अन्त की ओर, समिति ने सिफारिश की थी कि पुस्तकालय में (i) संदर्भ और शोघ इकाई (ii) संरक्षण इकाई (ii) प्रशासनिक इकाई, होनी चाहिए!

समिति ने 33 पदों में केन्द्रीय वेतनमान की सिफारिश की थी, जो बोर्ड द्वारा 13 दिसम्बर1985 में आयोजित बैठकों में अनुमोदित हो गयी:-

कमांक संख्या
 
पद संज्ञा
  पद सख्ंया
1
निदेशक
01
2
पुस्तकालय और सूचना अघिकारी
01
3
सहायक पुस्तकालय और सूचना अघिकारी
02
4
 
पुस्तकालय और सूचना सहायक
  02
5
 
वरिष्ठ तकनीकी रेस्टोरर
  02
6
 
तकनीकी रेस्टोरर
  02
7
 
लाइबे्ररी क्लर्क
  02
8
 
लाइब्रेरी अटेनडेन्ट (परिचर)
  06
9
 
झाड़न-सह-चपरासी
  02
10
 
हेड (शीर्ष) क्लर्क
  01
11
 
उच्च श्रेणी लिपिक
  01
12
 
लोअर (निम्न) डिवीजन क्लर्क
  02
13
 
चौकीदार
  03
14
 
माली
  01
15
 
फर्राश-सह-चपरासी
  03
       
    कुल   31


नोट- इसके अतिरिक्त आवशयकता अनुसार अशंकालीन रूप में सफाई कर्मचारियों को सेवाओं में लगया जा सकता हैं!

पुस्तकालय भवन और भूमि

वर्तमान में हामिद मंजिल इमारत1957 से रामपुर रज़ा पुस्तकालय का आश्रय स्थल हैं! रामपुर के किले के अन्दर एक भव्य उच्च गुंबद दार और बुर्जदार हवेली भारत-यूरोपीय वास्तु कला का एक शानदार निर्माण हंै, जैसा कि प्रारमिभक रिर्पोट में बताया गया है!1984-85 में हामिद मंजि़ल का स्वामित्व, रंगमहल के साथ आस-पास की £ाली भूमि, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा18 नवम्बर1982 में ले£ा परीक्षा के दौरान वार्षिक वित्तीय विवरण में, उत्तर प्रदेश सरकार के महा ले£ाकार ने इलाहबाद में निर्णय लिया और1984 वर्ष की बैलेंस शीट में रू. 22.16 ला£ की सम्पतित के रूप में दि£ाया पुस्तकालय की सम्पतित तौर पर बैलेंस शीट को भविषय में जारी र£ा जा सकता हैं! भारत सरकार ने आवशयक मरम्मत को जारी र£ने, इमारत का नवीनीकरण र£र£ाव प्रबन्घन को स्वयं के £र्च पर सौंपा था! इमारतों और भूमि विवरण में उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा दिनाँक 18 नवम्बर1982 में हस्ताानांतरित विले£ के तहत भारत सरकार को सौंप दिया जो इस प्रकार हैं:-

क्रमांक संख्या इमारतऔरभूमि कुर्सीक्षेत्र   मूल्य मूल्यांकन (भूमि की लागत शमिल हैं)
1(क) हामिद मंजि़ल   26,495 स्कायर फीट     Rs. 8.33 Lakhs
1(b) रंगमहल  

17,664 स्कायर फीटरू.     Rs. 3.38 लाख्स

2 मैदान और भूमि   मूल्याकंन @
  मैदान सहित भूमि   5/- per स्कायर फीटरू..
  और भूमि का क्षेत्र 2,08941 स्कायर फीटरू..   Rs. 10.45 लाख्स
       
  कुल: इमारत की कीमत, मैदान और भूमि   Rs. 22.16 लाख्स
       
       


   
Academic Activities
 
 
Online Photo Gallery