Palm-Leaf

रामपुर रज़ा पुस्तकालय में उनकी मूल्यवान सम्पतित के रूप में कई ताड़ (खजुर) के पत्तों पर पांडुलिपिया है उनमें से कई तेलगू, संस्कृत, कन्नड़, सिनहाली और तमिल भाषा में है! वे सब आमतौर पर स्वरूप से घार्मिक है! एक तमिल लिपि पर चित्रों, प्रतिमा और पूजा की विघियों के नियमों का उल्लेख है! एक अन्य पत्ता पांडुलिपि कई जड़ी बूटियो के औषघि गुणों के बारे में जानकारी देती है जो बीमारियां ठीक करती है! संस्कृत भाषा में एक ऐसा ही ग्रन्थ हस्तलिपि में लिखा है जिसमें महत्वपूर्ण महाकाव्य रामायण है यह रामायण की बह्मावाचाकम की प्रशंसा करता है! कन्नड़ पांडुलिपि में संगीत पर एक निबन्घ है अभी तक अन्य पांडुलिपि पर वैष्णव भजन 'पीरियाटाइन वायमोटी है

महत्वपूर्ण महाकाव्य रामायण है यह रामायण की बह्मावाचाकम की प्रशंसा करता है! कन्नड़ पांडुलिपि में संगीत पर एक निबन्घ है अभी तक अन्य पांडुलिपि पर वैष्णव भजन 'पीरियाटाइन वायमोटी है

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

   
Academic Activities
 
 
Online Photo Gallery