Pushto

रज़ा पुस्तकालय अन्य प्राच्य भारतीय पुस्तकालयो की जोत की तुलना में अपने दुर्लभ पशतो पांडुलिपियों और मुदि्रत पुस्तकों के लिए प्रतिषिठत है, पुस्तकालय में पशतो में क़ुरान शरीफ पर व्याख्या है और अन्य दो दुर्लभ खण्डों में खुशहल खान खाटक का दीवान है! जो कि नासटालिक अक्षरों में सोने के साथ विशालता से सजाया गया है! प्रख्यात सूफी कवि रहमान बाबा का सचित्र दीवान भी पुस्कालय के उल्लेखनीय संग्रहो में से एक है! यहाँ पर उन कामों के बारे में भी उल्लेख किया जा सकता है! जो रामपुर में हुए थे और हाफिज़ रहमत खान की पशतो पांडुलिपि, भारत में रोहिला अफगनियों के हीरो जिन्होने अपना जीवन स्वतन्त्रता संग्राम में अंग्रेजों के खलिफ लड़ने में लगा दिया था!

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 


   
Academic Activities
 
 
Online Photo Gallery