Urdu

संग्रह में अरबी और फारसी की तुलना में उर्दू पांडुलिपियों की संख्या कम है! पुस्तकालय में शाह हातिम का दीवान कुलियत-ए-मीर, जुरात, हसन, दीवान-ए-सोज़, और दीवान-ए-ग़ालिब की बहुत महत्वपूर्ण पांडुलिपि जिस में ग़ालिब की लिखावट में सुघार और संशोधन शमिल है! इंशा रानी केतकी की कहानी की दो दुर्लभ प्रतियाँ हैं! प्रख्यात कवि युसुफ अली खान 'नाजिम का दीवान जिसमें रामपुर के शासक अत्यघिक सोने से अंलकृत है! इसमें नवाब का चित्र भी शमिल है!

इंशा रानी केतकी की कहानी की दो दुर्लभ प्रतियाँ हैं! प्रख्यात कवि युसुफ अली खान 'नाजिम का दीवान जिसमें रामपुर के शासक अत्यघिक सोने से अंलकृत है! इसमें नवाब का चित्र भी शमिल है!

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

   
Academic Activities
 
 
Online Photo Gallery